Reality of dr. Kavikant hathi death exposed by bbc hindi how hathi died mystery news live

डॉ हाथी की मौत के 48 घंटे बाद डॉक्टर के बयान ने मचाई सनसनी, बोले- 'बच सकती थी जान अगर....'






'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' में डॉक्टर हाथी का किरदार निभाने वाले एक्टर 'कवि कुमार आजाद' की मौत से हर कोई सदमे में है। कवि कुमार को दिल का दौरा पड़ा था जिसके बाद अस्पताल में उन्हें भर्ती कराया था
जिसके कुछ देर बाद उन्होंने जिंदगी का हाथ हमेशा के लिए छोड़ दिया। एक्टर के निधन को 24 घंटे से भी ज्यादा का समय बीत गया है इस बीच उनका इलाज करने वाले डॉक्टर ने चौंकाने वाला बयान दिया है।


#
डॉक्टर हाथी को दिल का दौरा पड़ने के बाद मुंबई के वोक हॉर्ट अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां पर उनका इलाज डॉक्टर रवि हिरावनी ने किया। रवि हिरावनी का कहना है 'कवि कुमार को दोपहर करीब 12:10 मिनट पर अस्पताल लाया गया था। जिस वक्त डॉक्टर हाथी यहां आए थे उस वक्त उनकी धड़कन चल रही थी।'

dr hathi
dr hathi
इसके साथ ही डॉक्टर रवि ने कहा - 'कवि कुमार को तुरंत आपातकालीन वार्ड में भर्ती किया और कृत्रिम तरीके से सांस देने की कोशिश की गई। अस्पताल लाते लाते उनकी ईसीजी सपाट हो गई थी, इसी वजह से उनकी मौत हो गई। अगर कुछ देर पहले डॉक्टर हाथी को लाया जाता तो वह आज हमारे बीच होते।'

dr hathi
dr hathi
इस बीच डॉक्टर हाथी के भाई का भी बयान सामने आया है। उनका कहना है कि बीते कुछ दिनों से उन्हें सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। जिसकी वजह से हाइपरटेंशन की समस्या से परेशान थे। यहां तक कि लोकल चेस्ट चिकित्सक को भी दिखाया था। वहीं शो के प्रोड्यूसर का कहना है कि बिगड़ती तबीयत की वजह से वह एक दिन सेट से भी जल्दी घर चले गए थे
 डॉक्टर हाथी की अचानक हुई मौत से उनका परिवार सदमे में है
वहीं टेलीविजन की दुनिया में सन्नाटा पसर गया है। कुछ लोगों का कहना है कि डॉक्टर हाथी एकदम ठीक थे ऐसे में अचानक हुई मौत कई सवाल खड़े करती है। वहीं अब डॉक्टर हाथी की अचानक बिगड़ी तबीयत पर उनका इलाज करने वाले डॉक्टर का बयान सामने आया है जिसे जानकर आप भी कहेंगे कि एक छोटी सी चूंक ने इस एक्टर की जिंदगी छीन ली।
डॉक्टर हाथी को दिल का दौरा पड़ने के बाद मुंबई के वोक हॉर्ट अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां पर उनका इलाज डॉक्टर रवि हिरावनी ने किया। रवि हिरावनी का कहना है 'कवि कुमार को दोपहर करीब 12:10 मिनट पर अस्पताल लाया गया था। जिस वक्त डॉक्टर हाथी यहां आए थे उस वक्त उनकी धड़कन चल रही थी।' dr hathi dr hathi
इसके साथ ही डॉक्टर रवि ने कहा - 'कवि कुमार को तुरंत आपातकालीन वार्ड में भर्ती किया और कृत्रिम तरीके से सांस देने की कोशिश की गई। अस्पताल लाते लाते उनकी ईसीजी सपाट हो गई थी, इसी वजह से उनकी मौत हो गई। अगर कुछ देर पहले डॉक्टर हाथी को लाया जाता तो वह आज हमारे बीच होते।' dr hathi dr hathi


इस बीच डॉक्टर हाथी के भाई का भी बयान सामने आया है। उनका कहना है कि बीते कुछ दिनों से उन्हें सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। जिसकी वजह से हाइपरटेंशन की समस्या से परेशान थे। यहां तक कि लोकल चेस्ट चिकित्सक को भी दिखाया था। वहीं शो के प्रोड्यूसर का कहना है कि बिगड़ती तबीयत की वजह से वह एक दिन सेट से भी जल्दी घर चले गए थे
Powered by Blogger.