documentry khajedih chowk khoja docomentry खाजेडीह का इतिहास

खाजेडीह में आपका स्वागत हैं। welcometo khajedih.

                                                                
हर प्रकार का उपडेट पाएं सिर्फ मधुबनी हलचल पर

इस वीडियो के माध्यम से आपको खाजेडीह चौक की जानकारी दी गयी हैं। वीडियो के अंदर सारी जानकारी लिख दी गयी हैं, कृपया उसे ध्यान से पढ़ें।
आप सभी से अनुरोध हैं कि कृपया हमारे चैनल को subscribe कर लें।
disclaimer
    इस वीडियो को बनाने में काफी मेहनत करना पड़ा हैं, परन्तु इसके बावजूद भी आप copyright की डर बगैर इस वीडियो को download कर उपयोग कर सकते हैं।
credit
    खाजेडीह ग्रामवासी का में विशेष रूप से आभार प्रकट करता हूँ, की उनलोगों के सहयोग से यहां उच्च विद्यालय से लेकर कॉलेज तक का स्थापना करवाये हैं। इन्ही सबों में से एकहरी के चेतरू महतो के योगदानों को भी हम नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं।
एक दूसरा नाम एकहरी से श्री निर्मल बाबू का भी आता हैं, जिनका तो उच्च विद्यालय से लेकर कॉलेज में भी योगदान सराहनीय हैं।

साकेत बिहारी का आपलोगों से प्रार्थना हैं कि आपलोग इसी तरह समाज को विकसित करते रहें, समाज एक दूसरे के सहयोग के लिए ही होता हैं।
                  हम निश्चित ही यह सुनेंगे की खाजेडीह से पढ़नेवाले विद्यार्थियों में अधिकतर विद्यार्थी उच्च पदों पर आसीन हो रहे हैं।
    परन्तु विडम्बना यह हैं कि खाजेडीह में चौक पर जितने भी ट्यूशन और कोचिंग सेन्टर हैं, सभी जगह सिर्फ पढ़ा दिया जाता हैं न कि सिखाया जाता हैं। शायद इसलिए यहां इतने कोचिंग सेन्टर होने के बावजूद भी प्रतिभा का निखार नही हो पा रहा हैं।

     एक बात जरूर हैं कि बहुत पहले जब खाजेडीह चौक पर एक भी कोचिंग या ट्यूशन सेन्टर नही था। उस समय सरकारी स्कूल की स्थिति काफी अच्छी भी थी तब खाजेडीह प्रतिभा का धनी था।
         अब सरकारी स्कूल की स्थिति जितनी बिगरी हैं, उससे कहीं ज्यादा बुरा हाल यहाँ के ट्यूशन और कोचिंग सेन्टर का हैं। यहां के सभी कोचिंग सेन्टर पर परीक्षा की तैयारी के लिए सिर्फ रटवा दिया जाता हैं, परीक्षा के अगले दिन यदी उसी विद्यार्थी से परीक्षा का ही प्रश्न पूछिए तो उसे उसका कुछ अता पता नही होता हैं। क्योंकि शिक्षा को लोगों ने सिर्फ वयापार समझ रखा हैं।
Powered by Blogger.